एक औरत ही औरत की दुश्मन होती है : स्मृति ईरानी

31

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने हाल ही में संसद में महिलाओं के मासिक धर्म को लेकर एक बयान दिया। ईरानी ने कहा कि पीरियड के दौरान महिलाओं के लिए पेड लीव की कोई जरुरत नहीं हैं। यह महिलाओं के जीवन का हिस्सा है न की कोई बाधा। ऐसे में स्मृति ईरानी के इस बयान को जहां ज्यादातर लोगों ने समर्थन किया है वहीं कुछ लोग ऐसे हैं जो उनकी अलोचना कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर कुछ महिलाओं ने स्मृति ईरानी के इस बयान पर टिप्पणी करते हुए कहा कि एक औरत ही औरत की दुश्मन होती है। उन्होंने पीरियड में होने वाली तमाम दशा के बारे में बात करते हुए ये तर्क दिया।ईरानी ने कहा, “एक मासिक धर्म वाली महिला के रूप में, मासिक धर्म और मासिक धर्म चक्र कोई बाधा नहीं है, यह महिलाओं की जीवन यात्रा का एक स्वाभाविक हिस्सा है।” यह चेतावनी देते हुए कि मासिक धर्म की छुट्टी से कार्यबल में महिलाओं के खिलाफ भेदभाव हो सकता है, उन्होंने कहा, “हमें ऐसे मुद्दों का प्रस्ताव नहीं देना चाहिए जहां महिलाओं को समान अवसरों से वंचित किया जाता है, सिर्फ इसलिए कि जो कोई मासिक धर्म नहीं करता है उसका मासिक धर्म के प्रति एक विशेष दृष्टिकोण है।”