आईसीडीएस कर्मियों के लिए मोबाइल खरीदने के लिए 150 करोड़ रुपये की चोरी : शुभेदु

18
suvendu adhikari

गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने राज्य सरकार पर एक के बाद एक विस्फोटक आरोप लगाए. राज्य में शिक्षा, नगरपालिका, राशन से लेकर तमाम शिकायतें सामने आई हैं. ईडी-सीबीआई मैदान में उतर आए हैं. बेनियाम की शिकायत बीजेपी ने मिड डे मीटिंग में भी की है और इस बार शुभेंदु अधिकारी ने आंगनवाड़ी में भी भयानक शिकायत की है. विपक्षी दल के नेता ने दावा किया कि केंद्र ने चार साल पहले आईसीडीएस कार्यकर्ताओं के लिए मोबाइल फोन खरीदने और ऐप लॉन्च करने के लिए 150 करोड़ रुपये दिए थे। इस ऐप को आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट ( अभा) कहा जाता है.

शुभेंदु ने तीखा हमला बोलते हुए कहा कि इस राज्य सरकार ने आईसीडीएस कर्मियों के लिए मोबाइल खरीदने के लिए 150 करोड़ रुपये की चोरी की है. परिणामस्वरूप, ऐप लॉन्च नहीं किया गया है. विपक्षी दल के नेता ने राज्य सरकार पर बंगाल के लोगों को वंचित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि परिणामस्वरूप, पश्चिम बंगाल के लोगों को वंचित किया जा रहा है, आईसीडीएस कार्यकर्ताओं को वंचित किया जा रहा है. चार साल पहले भेजे गए ये 150 करोड़ रुपये उनके (राज्य सरकार) द्वारा अन्य क्षेत्रों में खर्च कर दिए गए हैं या चोरी कर लिए गए हैं। मैं इस बारे में पहले ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को शिकायत भेज चुका हूं. हालांकि राज्य का सत्ताधारी खेमा विपक्षी नेता सुभेंदु अधिकारी की इस शिकायत को ज्यादा तूल नहीं दे रहा है. तृणमूल के राज्य सचिव और सत्तारूढ़ पार्टी के प्रवक्ता कुणाल घोष ने शुभेंदु अधिकारी के इस आरोप को पूरी तरह से ‘भ्रामक’ बताते हुए पलटवार किया है. दूसरी ओर उन्होंने केंद्र सरकार की बंगाल के प्रति उपेक्षा की शिकायत का स्वर भी बुलंद कर दिया. कुणाल का बयान है कि शुवेंदु अधिकारी के भ्रामक आरोप. केंद्र आम लोगों का पैसा मार रही है. 100 दिन के काम का बकाया नहीं दे रहे. नए-नए आरोप लगाए जा रहे हैं. बहुत सारी जांच चल रही है. उनके बारे में जानकारी कहां है? किसी से भी जांच करने के लिए कहें. इस भाजपा सरकार का जाना केवल समय की बात है।