कोलकाता मेट्रो की ब्लू लाइन यात्रियों के लिए मेट्रो की तरफ से खास सुविधा

कोलकाता : ब्लू लाइन के स्टेशनों पर सभी ऑटोमेटिक स्मार्ट कार्ड रिचार्ज मशीनों  में UPI भुगतान आधारित टिकटिंग प्रणाली शुरू की गई है। यह टिकट…

कोलकाता : ब्लू लाइन के स्टेशनों पर सभी ऑटोमेटिक स्मार्ट कार्ड रिचार्ज मशीनों  में UPI भुगतान आधारित टिकटिंग प्रणाली शुरू की गई है। यह टिकट प्रणाली ग्रीन लाइन 1 और ग्रीन लाइन 2 के सभी स्टेशनों पर पहले ही शुरू की जा चुकी है। ग्रीन लाइन 1 और ग्रीन लाइन 2 के सभी टिकट बुकिंग काउंटर अब यूपीआई सक्षम हैं। परिणामस्वरूप, यात्रियों को अब इन स्टेशनों पर करेंसी नोटों और सिक्कों में सटीक किराया जमा करने की आवश्यकता नहीं है। इसके बजाय, वे अब इस प्रणाली की मदद से अपने स्मार्ट कार्ड रिचार्ज कर रहे हैं या टोकन खरीद रहे हैं।

मेट्रो में नई टिकट प्रणाली की शुरूआत यात्रियों के बीच काफी लोकप्रिय रही है। चूंकि ब्लू लाइन की सभी एएससीआरएम मशीनों में अब यह सुविधा है, इसलिए अधिक से अधिक यात्री बिना किसी परेशानी के इन मशीनों से टोकन खरीद रहे हैं या अपने स्मार्ट कार्ड रिचार्ज कर रहे हैं।

उदाहरण के लिए, यदि कोई यात्री दमदम की यात्रा करना चाहता है तो उसे स्क्रीन पर केवल स्टेशन का पहला अक्षर यानी डी टाइप करना होगा, फिर स्क्रीन पर एक ऑटो-पॉप-अप आएगा जिसमें डी से शुरू होने वाले सभी स्टेशन के नाम दिखेंगे। उसके बाद, उसे स्क्रीन पर स्टेशन का नाम चुनना होगा और फिर भुगतान पृष्ठ दिखाई देगा। भुगतान पृष्ठ पर, यूपीआई भुगतान का विकल्प प्रदर्शित किया जाएगा और फिर यूपीआई भुगतान विकल्प का चयन करने के बाद स्मार्ट फोन की मदद से क्यूआर कोड को स्कैन करके आवश्यक भुगतान किया जा सकता है। ग्रीन लाइन 1 और 2 के सभी स्टेशनों पर भी यह सुविधा उपलब्ध होने से मेट्रो यात्री इसका भरपूर लाभ उठा रहे हैं।

गौरतलब है कि मेट्रो रेलवे अधिकारियों ने भारतीय स्टेट बैंक और सेंटर फॉर रेलवे इंफॉर्मेशन सिस्टम्स की मदद से इस यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) आधारित टिकटिंग सिस्टम की शुरुआत की है। मेट्रो उपयोगकर्ताओं की भारी प्रतिक्रिया को देखते हुए, अधिकारी यात्रियों के लाभ के लिए जल्द ही इस वैकल्पिक टिकट सुविधा को पर्पल लाइन और ऑरेंज लाइन तक विस्तारित करने पर विचार कर रहे हैं। इन कॉरिडोरों में इस सुविधा को लागू करने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही हैं।